फोन को धीरे-धीरे स्लो कर देते हैं ये 5 फोल्डर, कई यूजर्स इसके बारे में नहीं जानते; इन्हें Delete करते ही स्पीड हो जाएगी नए जैसी


यूटिलिटी डेस्क। स्मार्टफोन के स्लो या हैंग होने की प्रॉब्लम कई यूजर्स के साथ होती है। फोन से जुड़ी एक गलती तो ऐसी है जिसे स्मार्टफोन चलाने वाला हर यूजर करता है। इसी गलती के चलते फोन धीरे-धीरे हैंग होने लगता है। ऐसा इसलिए भी होता है क्योंकि यूजर को इस बारे में पता ही नहीं होता। फोन में ऐसे 5 फोल्डर होते हैं जिनमें कई MB डाटा स्टोर होता है। ये डाटा आपके किसी काम का भी नहीं होता। ऐसे में इन फोल्डर करो डिलीट करके फोन की स्पीड को फास्ट किया जा सकता है। ये हैं वो फोल्डर…

वॉट्सऐप SENT फोल्डर

आपके वॉट्सऐप पर फोटो और वीडियो के साथ GIF, PDF, कॉन्टैक्ट, ऑडियो या अन्य फाइल भी आती हैं। यूजर इन्हें देख या सुन लेता है, लेकिन डिलीट नहीं करता। इतना ही नहीं, इन फाइल को जब दूसरी जगह फॉर्वर्ड करते हैं तब ये फाइल जितनी बार फॉर्वर्ड होती है उतना ही स्पेस लेती जाती हैं। हालांकि, आपके द्वारा सेंड की गई फाइल दिखाई नहीं देती।

यहां से डिलीट करें फोल्डर

ये फोल्डर आपको फोन के स्टोरेज में जाकर देखना होगा। इसके लिए स्टोरेज में जाकर WhatsApp => Media => WhatsApp Video => Sent पर जाना होगा। सेंड आइटम वीडियो, वॉलपेपर, एनिमेशन, ऑडियो, डॉक्युमेंट्स, इमेज के अंदर अलग-अलग 5 फोल्डर में होता है। ये डाटा फोन की मेमोरी को कई गुना तेजी से भरते हैं। ऐसे में सभी SENT फोल्डर का डाटा तुरंत डिलीट करना चाहिए।

फोन के स्लो या हैंग होने का कारण फोन का हार्डवेयर भी हो सकता है। हालांकि, फोन में 5 फोल्डर ऐसे होते हैं जिसमें डेली डाटा सेव होता है। ये डाटा आपको दिखाई भी नहीं देता। एक समय के बाद इसमें डाटा MB से GB तक पहुंच जाता है। जिससे फोन स्लो हो जाता है। ऐसे में इन फोल्डर को फोन से तुरंत डिलीट कर देना चाहिए।

फोन स्लो होने के अन्य कारण

1. फोन की रैम कम है तब मेमोरी फुल होने से स्लो और मल्टीटास्किंग के दौरान हैंग होने लगता है।

2. एप्लिकेशन ओपन होना : स्मार्टफोन में ऐप्स ओपन करने के बाद अक्सर यूजर उसे बैक कर देते हैं। ये मिनीमाइज होकर बैकग्राउंड में ओपन रहते हैं, जिससे फोन स्लो हो जाता है।

3. फोन की इंटरनल मेमोरी ऐप्स के लिए अलग होती है। ऐसे में जब भी ऐप को अपडेट करते हैं तब वो ज्यादा स्पेस लेते हैं, जिससे फोन स्लो या हैंग होने लगता है।

4. जब हम किसी ऐप का यूज करते हैं तो उससे जुड़ा टेम्परेरी डाटा स्टोर होता जाता है। ये डाटा फोन की रैम कंज्यूम करता है। जिससे फोन स्लो होता है।

5. APK फाइल वाले ऐप्स फोन के लिए डेंजर हो सकते हैं। इनसे फोन स्लो और हैंग होने का साथ डाटा लीक होने का भी खतरा होता है।

6. फोन में एंटीवायरस या क्लीनर ऐप इन्स्टॉल करने से भी उनकी स्पीड स्लो हो जाती है। ये ऐप्स लगातार फोन को स्कैन करते हैं, जिससे फोन स्लो होने लगता है।

7. यूजर फोन में सॉन्ग या मूवी रखते हैं। इनकी वजह से मेमोरी फुल हो जाती है और ये आपके फोन के हैंग और स्लो होने का कारण बन जाती है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


WhatsApp sent media folder delete for smartphone speed, follow these settings