इन-फ्लाइट कनेक्टिविटी के लिए एयरटेल भी होड़ में



भारती एयरटेल की सब्सिडियरी कंपनी इंडो टेलीपोर्ट्स ने घरेलू और विदेशी एयरलाइंस की उड़ानों में कॉलिंग व डेटा सेवाएं देने के लाइसेंस के लिए आवेदन किया है। मामले से जुड़े सूत्रों ने गुरुवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि यह आवेदन दूरसंचार विभाग के पास विचाराधीन है। एयरटेल ने इस बारे में अभी कोई टिप्पणी नहीं की है। पिछले महीने ह्यूजेज कम्युनिकेशन इंडिया (एचसीआईएल) देश में इन-फ्लाइट एंड मैरीटाइम कनेक्टिविटी (आईएफएमसी) लाइसेंस पाने वाली पहली कंपनी बनी थी। टाटानेट सर्विसेज ने भी छह मार्च को लाइसेंस मिलने की घोषणा की थी।

सरकार ने इस लाइसेंस के बारे में पिछले साल दिसंबर में नोटिफिकेशन जारी किया था। आईएफएमसी लाइसेंस से विभिन्न एयरलाइंस की उड़ानों, पानी के जहाजों, क्रूज लाइनर्स आदि में वॉयस, डेटा और वीडियो सेवा मुहैया कराना संभव होगा। रिसर्च फर्म यूरोकंसल्ट के मुताबिक, 2017 तक 23,000 कॉमर्शियल विमान अपने यात्रियों को कनेक्टिविटी की पेशकश करने लगेंगे।

एयरटेल की सब्सिडियरी इंडो टेलीपोर्ट्स ने लाइसेंस के लिए आवेदन किया

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today